जुलाई -2018

देशएंजॉयमेंट     Posted: October 1, 2016

“यार, अगली किट्टी किस के घर में है।”

“मिसेज शर्मा के घर में है, परन्‍तु हम अगली किट्टी हम नहीं कर सकते हैं।“

‘क्‍यों……..?”

“अरे, तू भी कमाल करती है। तुझे नहीं पता कि हमारी किट्टी मेम्‍बर मि‍सेज गौतम के पति की डेथ हो गई । वो भी इतनी कम उम्र में अभी तो वो पैन्तालीस साल के ही थे।“

“अच्‍छा !! गीता ने हैरान हो कर कहा। हाँ!यार दुख की बात तो है ।”

‘हाँ!’

“सुन, रीना प्‍लीस तू मिसेज शर्मा को कह वो किट्टी रख ले । उससे अगली किट्टी मेरे घर में है। अगर इस बार की किट्टी नहीं हुई ,तो मेरे घर वाली पोस्‍ट पोन हो जाएगी। मेरा सारा प्‍लान डिस्‍टर्ब हो जाएगा ;क्‍योंकि उसके बाद मैं सिंगापुर जा रही हूँ। वहाँ का एंजॉयमेंट भी डिस्‍टर्ब हो जाएगा। खाली एक मेम्‍बर मिसेज गौतम ही तो इस  बार किट्टी में नहीं आ पाएँगी ।

“गीता, हाउ यू केन बी सो इन्सैनसिटिव……….?”

“प्‍लीज़ यार, कुछ मैनेज कर, गीता ने कहा।“

-0-

सीमा स्‍मृति,जी-11 विवेक अपार्टमेंट श्रेष्‍ठ विहार

दिल्‍ली 110092

 

गतिविधियाँ

  • चर्चा में

    हरियाणा साहित्य-संगम में लघुकथा पर विचार -विमर्श( सुकेश साहनी और राम कुमार आत्रेय की भागीदारी ।)
    लघुकथा अनवरत-2017 का विश्व पुस्तक मेले में अयन प्रकाशन के स्टाल पर विमोचन।

  • सम्पर्क:-

    सुकेश साहनी

    185,उत्सव,महानगर पार्ट–2
    बरेली–243122 (उ.प्र.)


    sahnisukesh@gmail.com

    रामेश्वर काम्बोज ´हिमांशु´
    chandanman2011@gmail.com

    रचनाएँ भेजने के लिए पता-:-

    laghukatha89@gmail.com

    विशेष सूचना-:-

    पूर्व अनुमति के बिना लघुकथा डॉट कॉंम की सामग्री का उपयोग नहीं किया जा सकता ।

    -सम्पादक द्वय

Design by TemplateWorld and brought to you by SmashingMagazine