अक्तुबर-2017

देशमिड डे मील     Posted: May 1, 2015

ठाकुर वीरेन्द्र प्रताप सिंह के यहाँ पिछले चार दिनों से राधे बेगार करने नही आया | ठकुराइन बड़ी परेशान रहने लगी | चार दिनों से उनके छह साल के लड़के को घुमाने और लैट्रिन धुलवाने वाला राधे गायब था | ठाकुर से बोली ‘राधे नही आ रहा है चार-पांच दिनों से, पता नही कहाँ घूम रहा होगा…कुछ कहीं खाने को मिल गया होगा !!’
अगले दिन ठाकुर साहब चक्कर लगाने निकले | गाँव के बहार देखते है कि नौ-दस साल का लड़का नीली शर्ट खाकी पैंट पहने, कटोरी और कुछ अधफटे पन्नों की कॉपी हाथ में पकड़े उत्तर की तरफ जा रहा था | ठाकुर साहब आगे बढ़े और आवाज दी | राधे रुक गया लेकिन नजरे नीचे रहने दी | पूछा ‘कहाँ जा रहा है! और कोठी पर क्यूं नही आया ?.’ राधे धीरे से आगे कदम बढ़ाते हुए बोला ‘स्कूल जा रहा हूँ !!’
-0-
ई-मेल- lokiiprt@gmail.com

गतिविधियाँ

  • चर्चा में

    हरियाणा साहित्य-संगम में लघुकथा पर विचार -विमर्श( सुकेश साहनी और राम कुमार आत्रेय की भागीदारी ।)
    लघुकथा अनवरत-2017 का विश्व पुस्तक मेले में अयन प्रकाशन के स्टाल पर विमोचन।

  • सम्पर्क:-

    सुकेश साहनी

    185,उत्सव,महानगर पार्ट–2
    बरेली–243122 (उ.प्र.)

    sahnisukesh@gmail.com

    रामेश्वर काम्बोज ´हिमांशु´
    rdkamboj@gmail.com

    रचनाएँ भेजने के लिए पता-:-
    laghukatha89@gmail.com

    विशेष सूचना-:-
    पूर्व अनुमति के बिना लघुकथा डॉट कॉंम की सामग्री का उपयोग नहीं किया जा सकता ।

    -सम्पादक द्वय

Design by TemplateWorld and brought to you by SmashingMagazine